Tuesday, May 21, 2024
Latest:
उत्तराखंडऊधम सिंह नगर

विधायक के नाम पर सिडकुल में खुलेआम वसूली ! वायरल ऑडियो से हुआ खुलासा, गरमाई सियासत ठेकेदारों से 33 प्रतिशत की वसूली का चल रहा खेल

सौरभ गंगवार

रूद्रपुर। लोकसभा चुनाव के लिए मतदान से ठीक पहले स्थानीय विधायक के नाम पर सिडकुल में ठेकेदारों से हो रही अवैध वसूली का आडियो वायरल होने से सियासी भूचाल आ गया है। वायरल आडियो में विधायक का करीबी भाजपा नेता एक ठेकेदार से फोन पर 33 प्रतिशत कमीशन की मांग कर रहा है। इस मामले में पूर्व विधायक राजकुमार ठुकराल ने भी तेवर तीखे करते हुए पुलिस प्रशासन से कार्रवाई की मांग की है।

सिडकुल में ठेकेदारों से अवैध वसूली और चोरी की शिकायतें पहले भी सामने आई लेकिन इस बार एक ऑडियो ने सिडकुल में चल रहे खेल का कच्चा छिठ्ठा खोलकर रख दिया है। वायरल हो रही ऑडियो से साफ जाहिर हो रहा है कि सिडकुल में किस तरह ठेकेदारों से मनमानी वसूली की जा रही है। वायरल हो रहा ऑडियो स्थानीय विधायक के करीबी भाजपा नेता किरन विर्क और ठेकेदार राजेश सिंह के बीच हो रही बातचीत का है। आडियो में ठेकेदार राजेश सिंह किरन विर्क से शिकायत करते हैं कि जिस कंपनी में उन्होंने स्क्रैप का काम लिया है वहां कुछ लोग आकर कमीशन के नाम पर उसे परेशान कर रहे हैं। जिस पर दूसरी तरफ से किरन विर्क साफ-साफ कहते हैं कि उस कंपनी में हमारा यानि विधायक जी का 33 प्रतिशत हिस्सा है। जो पहले से ही चलता आ रहा है। ऑडियो में किरन विर्क ठेकेदार से विधायक के नाम पर 33 प्र्रतिशत कमीशन की मांग कर रहे हैं। बातचीत में किरन विर्क इस खेल में शामिल कुछ लोगों के नाम भी गिनाते हैं। ऑडियो में विर्क साफ साफ कह रहे हैं कि यह सब विधायक जी के संज्ञान में है और पहले से ही चला आ रहा है। काम करना है तो 33 प्रतिशत देना ही होगा इसमें कोई किंतु परंतु नहीं बातचीत में किरन विर्क यह भी साफ बता रहे हैं कि जो हमारा चल रहा है वो चलता रहेगा, काम चाहे जो भी करे।

इस ऑडियो से एक बात साफ हो रही है कि सिडकुल में स्क्रैप और मैन पॉवर के नाम पर अवैध वसूली का खुला खेल चल रहा है। दबंगई का आलम यह है कि कोई भी ठेकेदार इसके खिलाफ बोलने को तैयार नहीं है। पता चला है कि दबंगों के खौफ से सिडकुल में कई ठेकेदारों ने काम बंद कर दिया है, जो कर रहे हैं वह कमीशन देने को मजबूर हैं।

कमीशन नहीं देने पर छोड़ना पड़ा काम

पूरे मामले में ठेकेदार राजेश सिंह का कहना है सिडकुल स्थित एक कंपनी में उनका स्क्रैप का थोक में टेंडर हुआ जिस पर उसने माल उठाने के लिए अपने सहयोगी को ट्रक और लेबर के साथ भेजा लेकिन तभी वहां दस पन्द्रह लड़के आ गये उन्होंने लेबर को मारपीट करके भगा दिया और ट्रक वाले को कह दिया कि माल उठाने से पहले विधायक से बात कर लो या फिर किरन से बात कर लो राजेश के मुताबिक उसके सहयोगी ने पूरी बात बताई तो उन्होंने किरन को फोन किया फोन में किरन ने 33 प्रतिशत की मांग की बाद में वह खुद किरन विर्क से मिलने गये लेकिन तब भी उन्होंने साफ साफ एक ही बात कही कि काम तभी करोगे जब 33 प्रतिशत दोगे राजेश ने बताया कि 33 प्रतिशत कमीशन देने पर उन्हें घाटा हो रहा था जिस कारण उन्होंने काम छोड़ दिया क्यों कि इतनी कमाई नहीं होने की थी कि 33 प्रतिशत कमीशन के लिए बच सके राजेश का आरोप है कि विधायक के गुर्गे घूम रहे हैं वही वसूली करते हैं, हर कंपनी में इनका कमीशन सैट है। उन्होंने कहा कि कमीशन के खेल में सरकारी मशीनरी का भी खुलकर दुरूपयोग किया जा रहा है।

अवैध वसूली के खिलाफ पूर्व विधायक ठुकराल ने फिर दिखाये तेवर

सिडकुल में हो रही अवैध वसूली के खिलाफ पूर्व विधायक राजकुमार ठुकराल ने एक बार फिर तेवर तीखे कर लिये हैं, जिससेे सियासत गर्मा गयी है। दरअसल ठुकराल ने पूर्व में भी विधायक की शह पर सिडकुल में हो रही अवैध वसूली और बंद पड़ी फैक्ट्री में हुई चोरी के खिलाफ आवाज उठाई थी, लेकिन प्रशासन ने तब उनकी शिकायत को कोई खास तवज्जो नहीं दी ठुकराल ने पहले भी चीख चीखकर कहा था कि सिडकुल में बड़ा खेल चल रहा है। अब ऑडियो वायरल होने के बाद पूर्व विधायक एक बार फिर वसूली के खिलाफ खुलकर बोले हैं। उनका कहना है कि मैंने पहले ही कहा था कि वसूली के लिए यहां इस्ट इंडिया कंपनी आने वाली है। आज एक सूत्रीय कार्यक्रम चल रहा है कि कैसे ब्लैकमेलिंग करके पैसा अर्जित किया जाये इसमें पुलिस के कुछ अधिकारी भी मिले हुए हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व में विधायक जिसके माध्यम से वसूली करा रहे थे वह आज जेल में है। अब नये सिरे से किसी और को वसूली का चार्ज दिया गया है। ठुकराल ने कहा कि वह दस साल तक विधायक रहे लेकिन सिडकुल में किसी का शोषण नहीं किया आज खुद इनके मुंह से बखान हो रहा है कि 33 प्रतिशत हिस्सा चाहिए।

एसएसपी से किया सवाल ?

ठुकराल ने कहा कि पुलिस प्रशासन ने उनके समर्थक गौरव आहूजा पर राजनैतिक दबाव में रंगदारी का मुकदमा लगा दिया था ठुकराल ने एसएसपी से सवाल किया कि अब क्यों सोये बैठे हो, अब प्रमाण भी है उसके बावजूद रंगदारी का मुकदमा क्यों नहीं लिखा जा रहा ? ठुकराल ने कहा कि आज सिडकुल में कोई भी व्यक्ति ईमानदारी से मैन पावर और स्क्रैप का काम नहीं कर सकता। कुछ लोग सिडकुल में उद्योगपतियों का खुलेआम शोषण कर रहे हैं। ठुकराल ने कहा कि अवैध वसूली और स्क्रैप की चोरी का खुलासा पहले भी हो चुका है। लेकिन कार्रवाई नहीं होती।

इस पूरे मामले को लेकर स्थानीय विधायक से उनका पक्ष लेने के लिए संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका।।

error: Content is protected !!
Call Now Button