Tuesday, May 21, 2024
Latest:
ऊधम सिंह नगर

रक्तदान शिविर में 50 से अधिक लोगों ने किया रक्तदान भारत विकास परिषद ने नारायण अस्पताल के ब्लड बैंक में आयोजित किया शिविर

सौरभ गंगवार

रूद्रपुर। भारत विकास परिषद रूद्रपुर शाखा की ओर से रक्तदान शिविर का आयोजन बिलासपुर रोड स्थित नारायण अस्पताल एवं ट्रॉमा सेंटर के ब्लड बैंक में किया गया। शिविर में 50 से अधिक महादानियों ने रक्तदान किया।

शिविर का शुभारम्भ भारत विकास परिषद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुनील खेड़ा, नारायण अस्पताल के एमडी डा. प्रदीप अदलखा, डा. सोनिया अदलखा, भारत विकास परिषद के क्षेत्रीय संयुक्त सचिव नरेन्द्र अरोरा, जिला संयोजक मनोज अरोरा, नगर इकाई के अध्यक्ष विष्णु सक्सेना, सचिव राहुल सिंघल आदि ने संयुक्त रूप से मां भारती और स्वामी विवेकानंद जी के चित्र के सम्मुख दीप जलाकर किया।

इस अवसर पर परिषद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुनील खेड़ा ने शिविर के आयोजन की सराहना करते हुए कहा कि समाजसेवा ही भारत विकास परिषद का प्रमुख उद्देश्य एवं ध्येय है। भारत विकास परिषद हमेशा से ही समाज सेवा में अग्रणी रहा है। परिषद सामाजिक कार्यों में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रही है और समाज को इससे सीधा लाभ मिल रहा है। शिक्षा, स्वास्थ्य के साथ साथ अन्य सामाजिक कार्यों में भी परिषद अपना योगदान समय समय पर देता आ रहा है। उन्होंने कहा कि रक्तदान सबसे बड़ा पुण्य कार्य है। रक्तदान करने से किसी जरूरतमंद की जान बचाई जा सकती है। उन्होंने लोगों से समय समय पर रक्तदान अवश्य करने का आहवान किया।

इस अवसर पर नारायण अस्पताल के एमडी डा. प्रदीप अदलखा ने शिविर में पहुंचे सभी अतिथितियों एवं रक्तदान करने आये सभी महादानियों का स्वागत करते हुए कहा कि रक्तदान महादान है। रक्तदान के लिए सभी को बढ़-चढ़ कर आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि समय समय पर ऐसे शिविर आयोजित होने से गंभीर बीमारी या आपात स्वास्थ्य स्थिति के समय रक्त की कमी पूरी की जा सकती है। रक्त की कमी वालों के लिए जरूरत की पूर्ति जीवनदान जैसी है। उन्होंने कहा कि भारत विकास परिषद के सामाजिक कार्यों से अन्य संस्थाओं को भी प्रेरणा लेने की जरूरत है। रक्तदान के प्रति आस-पास के लोगों को भी जागरूक करने की जरूरत है। आज भी लोगों में रक्तदान के प्रति कई भ्रांतियां हैं इन भ्रांतियों को लेकर लोगों को जागरूक करने की जरूरत है।

डा. सोनिया अदलखा ने कहा कि रक्तदान से शरीर को कोई नुकसान नहीं होता। शरीर में प्रत्येक चार महीने में नए ब्लड का निर्माण होता है। ऐसे में लोग ये न सोचें कि रक्तदान से शरीर में कोई कमी आ जाती है। उन्होंने कहा कि रक्त की एक-एक बूंद की अनमोल है। इसका अहसास हमें तब होता है जब आपात स्थिति में इसकी आवश्यकता होती है। इसलिए जब भी मौका मिले तो रक्तदान अवश्य करना चाहिए, क्योंकि रक्तदान से जरूरत पड़ने पर हम किसी दूसरे की जिंदगी को बचा सकते है।

शिविर में 50 से अधिक लोगों ने रक्तदान किया। रक्तदान करने वाले सभी महादानियों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। वहीं शिविर में पहुंचे अतिथियों को भी स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर कीर्ति निधि शर्मा, हरनाम चौधरी, अशोक सिंघल, राजकुमार बिंदल, गुरमीत सिंह, राजकुमार खनिजो, सुरेन्द्र मिड्डा, संजय ठुकराल, संजय सिंघल, विपिन लूथरा, पंकज वर्मा, यमन बब्बर, अजीत पाल सिंह, संजय राधू, शक्ति बठला, संजीव अरोरा, जतिन अरोरा, राजेन्द्र सहाय, पियूष नारंग, सुरेश बब्बर, संजीव बांगा, केवल कृष्ण ईशपुजानी, आनंद अग्रवाल, के अलावा नारायण अस्पताल की मोनिका करनवीर, प्रदीप कुमार चौधरी, राजन सिंह, देवेन्द्र पाल, निसार अहमद, मीनाक्षी, नीलेश कुमार, पूजा कोली, पवनदीप कौर, अंकित मौर्या, गगनदीप सिंह आदि शामिल थे।

error: Content is protected !!
Call Now Button